Uk To Roll Out Life-saving Covid-19 Remedy Which Was Given To Donald Trump – ब्रिटेन- इस नई दवा से होगा गंभीर मरीजों का इलाज, ट्रंप को भी दी गई थी यही एंटीबॉडी  

[ad_1]

सार

इसे पूरे ब्रिटेन में आजमाया जाएगा और मुझे उम्मीद है कि अगले सप्ताह तक इसका असर दिखने लगेगा।

ख़बर सुनें

ब्रिटेन में कोरोना वायरस से पीड़ित हजारों मरीजों के लिए राहत भरी खबर आई है। इन मरीजों का अब जीवनरक्षक नई एंटीबॉडी से इलाज किया जाएगा जिसे रोनाप्रीव कहा जाता है। अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को भी यही इलाज दिया गया था। 

दो मोनोक्लोनल एंटीबॉडी का मिश्रण रोनाप्रीव उन अस्पतालों में पहले पहुंचाया जाएगा जहां कोरोना के मरीजों पर एंटीबॉडी का अधिक असर नहीं दिखा है। 

पिछले साल जब डोनाल्ड ट्रंप कोरोना संक्रमित हो गए थे, उस वक्त उन्हें इसी एंटीबॉडी से इलाज दिया गया था। 

ब्रिटेन के स्वास्थ्य मंत्री साजिद जाविद ने कहा कि हमने ऐसे मरीजों के लिए नए इलाज की व्यवस्था की है जिन पर अब तक किसी तरह के इलाज का असर नहीं हो रहा था। इसे पूरे ब्रिटेन में आजमाया जाएगा और मुझे उम्मीद है कि अगले सप्ताह तक इसका असर दिखने लगेगा।

स दवा ऐसे मरीजों की दी जाएगी जिन्हें कोरोना के साथ कैंसर या ऑटोइम्यूनो जैसी बीमारी है और इस वजह से उनपर मौजूदा एंटीबॉडी का असर नहीं हो रहा है। 
  
एएचएस ने कहा कि इसके इलाज से जुड़ी गाइडलाइन जल्दी  ही जारी हो जाएगी ताकि अस्पतालों में मरीजों का इलाज जल्द से जल्द शुरू हो सके।  

रोचे प्रोडक्ट लि. के पॉल मैक्मैनस का कहना है कि मोनाप्रीव पहली ऐसे दवा है जिसे कोविड-19 के इलाज के लिए एमएचआर (मेडिसीन एंड हेल्थकेयर प्रोडक्स रेगुलेटरी एजेंसी) की ओर से मान्यता मिली है।  

विस्तार

ब्रिटेन में कोरोना वायरस से पीड़ित हजारों मरीजों के लिए राहत भरी खबर आई है। इन मरीजों का अब जीवनरक्षक नई एंटीबॉडी से इलाज किया जाएगा जिसे रोनाप्रीव कहा जाता है। अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को भी यही इलाज दिया गया था। 

दो मोनोक्लोनल एंटीबॉडी का मिश्रण रोनाप्रीव उन अस्पतालों में पहले पहुंचाया जाएगा जहां कोरोना के मरीजों पर एंटीबॉडी का अधिक असर नहीं दिखा है। 

पिछले साल जब डोनाल्ड ट्रंप कोरोना संक्रमित हो गए थे, उस वक्त उन्हें इसी एंटीबॉडी से इलाज दिया गया था। 

ब्रिटेन के स्वास्थ्य मंत्री साजिद जाविद ने कहा कि हमने ऐसे मरीजों के लिए नए इलाज की व्यवस्था की है जिन पर अब तक किसी तरह के इलाज का असर नहीं हो रहा था। इसे पूरे ब्रिटेन में आजमाया जाएगा और मुझे उम्मीद है कि अगले सप्ताह तक इसका असर दिखने लगेगा।

स दवा ऐसे मरीजों की दी जाएगी जिन्हें कोरोना के साथ कैंसर या ऑटोइम्यूनो जैसी बीमारी है और इस वजह से उनपर मौजूदा एंटीबॉडी का असर नहीं हो रहा है। 

  

एएचएस ने कहा कि इसके इलाज से जुड़ी गाइडलाइन जल्दी  ही जारी हो जाएगी ताकि अस्पतालों में मरीजों का इलाज जल्द से जल्द शुरू हो सके।  

रोचे प्रोडक्ट लि. के पॉल मैक्मैनस का कहना है कि मोनाप्रीव पहली ऐसे दवा है जिसे कोविड-19 के इलाज के लिए एमएचआर (मेडिसीन एंड हेल्थकेयर प्रोडक्स रेगुलेटरी एजेंसी) की ओर से मान्यता मिली है।  

[ad_2]

Supply hyperlink

Share on:

नमस्कार दोस्तों, मैं Pinku, HindiMeJabab(हिन्दी में जवाब) का Technical Author & Co-Founder हूँ. Education की बात करूँ तो मैं 10th Pass हूँ. मुझे नयी नयी चीजों को सीखना और दूसरों को सिखाने में बड़ा मज़ा आता है. मेरी आपसे विनती है की आप लोग इसी तरह हमारा सहयोग देते रहिये और हम आपके लिए नईं-नईं जानकारी उपलब्ध करवाते रहेंगे.

Leave a Comment