Uk Eases Guidelines For Vaccinated Travellers Some Profit For India-uk Route – राहत: ब्रिटेन ने टीकाकरण यात्रियों के लिए नियमों में ढील दी, भारत-यूके मार्ग पर भी कुछ छूट

[ad_1]

ब्रिटेन की सरकार ने शुक्रवार को कोविड-19 रोधी टीके की पूरी खुराक ले चुके लोगों के लिए अंतरराष्ट्रीय यात्रा नियमों में बड़ी छूट की घोषणा की। इससे भारत और ब्रिटेन के बीच यात्रा करनेवाले लोगों को लाभ मिलेगा।

कोविड-19 जोखिम स्तर के आधार पर चार अक्तूबर से लाल, पीले और हरे प्रतिबंध वाले देशों के साथ वर्तमान ट्रैफिक लाइट सिस्टम को समाप्त कर दिया जाएगा और केवल एक लाल सूची प्रतिस्थापित किया जाएगा। इससे भारत को फायदा होगा और अब ब्रिटेन में टीके की खुराक लेने वाले भारतीय प्रवासी लोगों को अनिवार्य पीसीआर जांच के संबंध में कम परेशानी होगी।

हालांकि उन देशों की विस्तृत सूची में भारत का नाम नहीं है, जिनके टीकों को इंग्लैंड में मान्यता है। इसका मतलब है कि वैसे भारतीय जिन्होंने कोविशील्ड की खुराक ली है, उन्हें अब भी रवाना होने से पहले पीसीआर जांच और ब्रिटेन पहुंचने पर आगे की जांच से गुजरना होगा।

चार अक्तूबर से, जापान, सिंगापुर और मलयेशिया सहित योग्य टीकों वाले 17 अतिरिक्त देशों के यात्रियों को ब्रिटेन की यात्रा करने के लिए प्रस्थान-पूर्व पीसीआर परीक्षण की आवश्यकता नहीं होगी।

यूके के परिवहन मंत्री ग्रांट शाप्स ने कहा कि ‘आज के परिवर्तनों का अर्थ है एक सरल और अधिक सीधी प्रणाली। कम परीक्षण और कम लागत वाली यात्रा को मंजूरी देने से अधिक लोग यात्रा कर सकते हैं, अपने प्रियजनों को देख सकते हैं और दुनिया भर में व्यापार कर सकते हैं। इससे ट्रैवल इंडस्ट्री को बढ़ावा मिलेगा।’

उन्होंने कहा, ‘लोगों का स्वास्थ्य हमेशा हमारी अंतरराष्ट्रीय यात्रा नीति के केंद्र में रहा है और यूके में चार करोड़ 40 लाख (44 मिलियन) से अधिक लोगों को पूरी तरह से टीका लगाया जा चुका है। अब हम एक आनुपातिक रूप से अद्यतन संरचना को स्थापित करने में सक्षम हैं जो नए परिदृश्य को दर्शाता है।’

जिन देशों को लाल सूची में नहीं रखा गया है वहां के गैर-टीकाकरण वाले यात्रियों का प्रस्थान से पहले एक परीक्षण किया जाएगा, और दूसरे दिन और आठवें दिन पीसीआर जांच जरूरी होंगे। जिन यात्रियों को इंग्लैंड के अंतर्राष्ट्रीय यात्रा नियमों के तहत अधिकृत टीकों और प्रमाणपत्रों के साथ पूरी तरह से टीकाकृत होने के रूप में मान्यता प्राप्त नहीं है, उन्हें अभी भी एक पूर्व-प्रस्थान परीक्षण, एक दूसरे दिन और आठवें दिन पीसीआर परीक्षण करना होगा। साथ ही प्रवेश के बाद 10 दिनों के लिए उनके दिए गए पते पर उन्हें आत्म-पृथक होना पड़ेगा। इसमें भारत भी शामिल है। सभी यात्रियों को यात्रा से पहले अनिवार्य यात्री आवेदक फॉर्म को पूरा करना होगा।

लेटेस्ट अपडेट में, पाकिस्तान, बांग्लादेश और श्रीलंका अगले बुधवार से यात्रा प्रतिबंध सूची से हटाए गए आठ रेड लिस्ट गंतव्यों में से हैं। तुर्की, मालदीव, मिस्र, ओमान और केन्या लाल सूची से बाहर हैं।

ब्रिटिश स्वास्थ्य मंत्री साजिद जाविद ने कहा, ‘आज, हमने यात्रा नियमों को सरल बनाया है ताकि उन्हें समझना और उनका पालन करना आसान हो। इससे पर्यटन को बढ़ावा मिले और विदेश यात्रा की लागत कम हो।’ उन्होंने कहा, इस नई दो-स्तरीय प्रणाली के वर्ष के अंत तक बने रहने की उम्मीद है, और नए साल की शुरुआत में एक और समीक्षा की योजना बनाई गई है।

[ad_2]

Supply hyperlink

Share on:

नमस्कार दोस्तों, मैं Pinku, HindiMeJabab(हिन्दी में जवाब) का Technical Author & Co-Founder हूँ. Education की बात करूँ तो मैं 10th Pass हूँ. मुझे नयी नयी चीजों को सीखना और दूसरों को सिखाने में बड़ा मज़ा आता है. मेरी आपसे विनती है की आप लोग इसी तरह हमारा सहयोग देते रहिये और हम आपके लिए नईं-नईं जानकारी उपलब्ध करवाते रहेंगे.

Leave a Comment