Trinamool Congress Nominates Sushmita Dev To Rajya Sabha  – फैसला: तृणमूल कांग्रेस ने सुष्मिता देव को राज्यसभा के लिए किया नामांकित 

0
1


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, कोलकाता
Revealed by: Amit Mandal
Up to date Tue, 14 Sep 2021 04:48 PM IST

सार

सुष्मिता देव ने 16 अगस्त को टीएमसी का दामन थामा था। अब पार्टी ने जानकारी दी है कि उन्हें राज्यसभा के लिए नामांकित किया गया है। 

ख़बर सुनें

तृणमूल कांग्रेस ने हाल ही में पार्टी में शामिल सुष्मिता देव को राज्यसभा के लिए नामांकित किया है। टीएमसी ने ट्वीट किया- महिलाओं के सशक्तिकरण की दिशा में ममता बनर्जी का दृष्टिकोण महिलाओं का अधिक संख्या में राजनीति में भागीदारी को सुनिश्चित करता है ताकि हमारा समाज अधिक से अधिक लाभान्वित हो सके। 

ऑल इंडिया महिला कांग्रेस की अध्यक्ष रहीं सुष्मिता देव 16 अगस्त को टीएमसी में शामिल हो गई थीं। उन्हें ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी व डेरेक ओ ब्रायन ने पार्टी की सदस्यता दिलाई थी। 

सुष्मिता देव ने इसी दिन कांग्रेस से इस्तीफा दिया था। दरअसल, सुष्मिता देव 2014 के लोकसभा चुनाव में असम की सिल्चर सीट से कांग्रेस पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़कर सांसद बनी थीं। इसके बाद उन्हें ऑल इंडिया महिला कांग्रेस का कार्यभार भी दिया गया था। लेकिन, असम विधानसभा चुनाव में हार के बाद सुष्मिता देव का इस्तीफा कांग्रेस के लिए और भी मुसीबत बन गया। 

इस्तीफा देने से पहले सुष्मिता देव ने कांग्रेस पार्टी का वाट्सएप ग्रुप भी छोड़ दिया था। वहीं उन्होंने ट्विटर से अपना बायो भी हटा लिया। उन्होंने खुद को बायो में कांग्रेस पार्टी का पूर्व नेता बताया। यह कदम सुष्मिता देव ने तब उठाया, जब ट्विटर ने उनके अकाउंट को निलंबित कर दिया था। सुष्मिता भी उन नेताओं में से एक थीं, जिनका ट्विटर अकाउंट राहुल गांधी के साथ निलंबित किया गया था। 

विस्तार

तृणमूल कांग्रेस ने हाल ही में पार्टी में शामिल सुष्मिता देव को राज्यसभा के लिए नामांकित किया है। टीएमसी ने ट्वीट किया- महिलाओं के सशक्तिकरण की दिशा में ममता बनर्जी का दृष्टिकोण महिलाओं का अधिक संख्या में राजनीति में भागीदारी को सुनिश्चित करता है ताकि हमारा समाज अधिक से अधिक लाभान्वित हो सके। 

ऑल इंडिया महिला कांग्रेस की अध्यक्ष रहीं सुष्मिता देव 16 अगस्त को टीएमसी में शामिल हो गई थीं। उन्हें ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी व डेरेक ओ ब्रायन ने पार्टी की सदस्यता दिलाई थी। 

सुष्मिता देव ने इसी दिन कांग्रेस से इस्तीफा दिया था। दरअसल, सुष्मिता देव 2014 के लोकसभा चुनाव में असम की सिल्चर सीट से कांग्रेस पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़कर सांसद बनी थीं। इसके बाद उन्हें ऑल इंडिया महिला कांग्रेस का कार्यभार भी दिया गया था। लेकिन, असम विधानसभा चुनाव में हार के बाद सुष्मिता देव का इस्तीफा कांग्रेस के लिए और भी मुसीबत बन गया। 

इस्तीफा देने से पहले सुष्मिता देव ने कांग्रेस पार्टी का वाट्सएप ग्रुप भी छोड़ दिया था। वहीं उन्होंने ट्विटर से अपना बायो भी हटा लिया। उन्होंने खुद को बायो में कांग्रेस पार्टी का पूर्व नेता बताया। यह कदम सुष्मिता देव ने तब उठाया, जब ट्विटर ने उनके अकाउंट को निलंबित कर दिया था। सुष्मिता भी उन नेताओं में से एक थीं, जिनका ट्विटर अकाउंट राहुल गांधी के साथ निलंबित किया गया था। 





Supply hyperlink

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here