Three Employees Repairing Sewerage Tank Died Of Suffocation In madhya Pradesh – मध्यप्रदेश में हादसा: सीवरेज टैंक की मरम्मत कर रहे तीन श्रमिकों की दम घुटने से मौत, संस्था के खिलाफ केस दर्ज करने का आदेश 

[ad_1]

अमर उजाला नेटवर्क, सोनभद्र
Revealed by: हरि Person
Up to date Fri, 24 Sep 2021 09:40 PM IST

सार

यूपी के सोनभद्र जिले से सटे मध्यप्रदेश के नगर पालिका निगम बैढ़न कचनी मुख्य मार्ग पर सीवरेज टैंक में हादसा हुआ। केके स्पंज कंपनी की तरफ से सीवरेज टैंक व पाइपलाइन में आई तकनीकी खराबी को सुधारा जा रहा था।
 

ख़बर सुनें

यूपी के सोनभद्र जिले से सटे मध्यप्रदेश के नगर पालिका निगम बैढ़न कचनी मुख्य मार्ग पर सीवरेज टैंक में दम घुटने से तीन श्रमिकों की मौत हो गई। शुक्रवार को हादसा उस समय हुआ जब श्रमिक सीवरेज टैंक में तकनीकी सुधार कर रहे थे।

कचनी मुख्य मार्ग में दोपहर के समय केके स्पंज कंपनी की तरफ से सीवरेज टैंक व पाइपलाइन में आई तकनीकी खराबी को सुधारा जा रहा था। इसके लिए श्रमिक कन्हैयालाल यादव (35) निवासी चाचर,  इंद्रभान सिंह (30) निवासी एचएन-10 भोपाल कार्य में लगे थे। इसी दौरान दोनों बेहोश हो गए। 

जब दोनों श्रमिकों की कोई आहट नहीं मिली तो संविदाकार ने तीसरे श्रमिक नागेंद्र रजक निवासी तेलदह को टैंक में जाने के लिए कहा। कई घंटे तक जब तीनों की आहट नहीं मिली तो खोजबीन शुरू की गई। प्रशासन की कड़ी मशक्कत के बाद टैंक में फंसे तीनों श्रमिकों को रेस्क्यू करते हुए बाहर निकालकर जिला चिकित्सालय (ट्रामा सेंटर) ले जाया गया। वहां चिकित्सकों ने तीनों को मृत घोषित कर दिया। घटना की खबर मिलते ही मौके पर कलेक्टर राजीव रंजन मीना, एसपी वीरेंद्र कुमार सिंह, एडीएम डीपी वर्मन, एसडीएम ऋषि पवार, सीएसपी देवेश पाठक आदि पहुंच गये। वहीं ट्रामा सेंटर में सांसद रीति पाठक, सिंगरौली विधायक रामलल्लू बैस, चंद्रप्रताप विश्वकर्मा ने मृतकों के परिजनों को ढांढस बंधाया।

बोले अधिकारी 

विस्तार

यूपी के सोनभद्र जिले से सटे मध्यप्रदेश के नगर पालिका निगम बैढ़न कचनी मुख्य मार्ग पर सीवरेज टैंक में दम घुटने से तीन श्रमिकों की मौत हो गई। शुक्रवार को हादसा उस समय हुआ जब श्रमिक सीवरेज टैंक में तकनीकी सुधार कर रहे थे।

कचनी मुख्य मार्ग में दोपहर के समय केके स्पंज कंपनी की तरफ से सीवरेज टैंक व पाइपलाइन में आई तकनीकी खराबी को सुधारा जा रहा था। इसके लिए श्रमिक कन्हैयालाल यादव (35) निवासी चाचर,  इंद्रभान सिंह (30) निवासी एचएन-10 भोपाल कार्य में लगे थे। इसी दौरान दोनों बेहोश हो गए। 

जब दोनों श्रमिकों की कोई आहट नहीं मिली तो संविदाकार ने तीसरे श्रमिक नागेंद्र रजक निवासी तेलदह को टैंक में जाने के लिए कहा। कई घंटे तक जब तीनों की आहट नहीं मिली तो खोजबीन शुरू की गई। प्रशासन की कड़ी मशक्कत के बाद टैंक में फंसे तीनों श्रमिकों को रेस्क्यू करते हुए बाहर निकालकर जिला चिकित्सालय (ट्रामा सेंटर) ले जाया गया। वहां चिकित्सकों ने तीनों को मृत घोषित कर दिया। घटना की खबर मिलते ही मौके पर कलेक्टर राजीव रंजन मीना, एसपी वीरेंद्र कुमार सिंह, एडीएम डीपी वर्मन, एसडीएम ऋषि पवार, सीएसपी देवेश पाठक आदि पहुंच गये। वहीं ट्रामा सेंटर में सांसद रीति पाठक, सिंगरौली विधायक रामलल्लू बैस, चंद्रप्रताप विश्वकर्मा ने मृतकों के परिजनों को ढांढस बंधाया।

बोले अधिकारी 

सीवरेज टैंक में श्रमिकों की मौत का मुख्य कारण क्रियान्वयन एजेंसी की सुरक्षा के प्रति लापरवाही है। क्रियान्वयन एजेंसी के विरुद्ध एफआईआर दर्ज कराई जा रही है। मृतक के परिजनों के साथ हम सब खड़े हैं, उन्हें आर्थिक मदद मुहैया कराई जाएगी। – राजीव रंजन मीना, कलेक्टर – सिंगरौली।

[ad_2]

Supply hyperlink

Share on:

नमस्कार दोस्तों, मैं Pinku, HindiMeJabab(हिन्दी में जवाब) का Technical Author & Co-Founder हूँ. Education की बात करूँ तो मैं 10th Pass हूँ. मुझे नयी नयी चीजों को सीखना और दूसरों को सिखाने में बड़ा मज़ा आता है. मेरी आपसे विनती है की आप लोग इसी तरह हमारा सहयोग देते रहिये और हम आपके लिए नईं-नईं जानकारी उपलब्ध करवाते रहेंगे.

Leave a Comment