Shiromani Akali Dal Black Day Protest March Gurdwara Rakab Ganj Sahib To Parliament All Replace In Delhi – कृषि कानूनों का एक साल: अकाली दल का ‘ब्लैक फ्राइडे प्रोटेस्ट मार्च’, पुलिस ने दिल्ली आ रहे कार्यकर्ताओं को रोका

[ad_1]

अमर उजाला नेटवर्क, नई दिल्ली
Printed by: शाहरुख खान
Up to date Fri, 17 Sep 2021 09:12 AM IST

सार

‘ब्लैक फ्राइडे प्रोटेस्ट मार्च’ शामिल होने दिल्ली आ रहे अकाली दल के कार्यकर्ताओं को पुलिस ने बॉर्डर पर ही रोक दिया है। दिल्ली पुलिस ने भी ट्रैफिक अलर्ट जारी किया है। झाड़ोदा कलां बॉर्डर पर दोनों रास्ते किसान आंदोलन की वजह से  बैरिकेटिंग लगा कर बंद कर दिए गए हैं।

अकाली दल के कार्यकर्ताओं को रोकती पुलिस

अकाली दल के कार्यकर्ताओं को रोकती पुलिस
– फोटो : एएनआई

ख़बर सुनें

विस्तार

केंद्र सरकार के कृषि कानूनों के एक साल पूरे होने पर शिरोमणि अकाली दल आज ‘ब्लैक फ्राइडे प्रोटेस्ट मार्च’ का आयोजन कर रहा है। देश की राजधानी दिल्ली में प्रोटेस्ट मार्च गुरुद्वारा रकाब गंज साहिब से संसद भवन तक निकाला जाएगा। विरोध मार्च का नेतृत्व पार्टी प्रमुख सुखबीर सिंह बादल और नेता हरसिमरत कौर बादल करेंगे। वहीं, दिल्ली आ रहे अकाली दल के कार्यकर्ताओं को दिल्ली पुलिस ने बॉर्डर पर ही रोक दिया।

आपको बता दें कि गुरुवार को कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली में आयोजित प्रदर्शन में भाग लेने जा रहे पार्टी कार्यकर्ताओं को दिल्ली पुलिस ने झाड़ोदा बॉर्डर पर रोक दिया। पंजाब नंबर की सभी गाड़ियों को लौटा दिया गया। रोके जाने पर अकाली कार्यकर्ताओं ने विरोध जताया, लेकिन सीआरपीएफ व दिल्ली पुलिस के जवानों ने उनकी नहीं सुनी। कुछ देर बाद बॉर्डर से कार्यकर्ता लौट गए।

अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर बादल के नेतृत्व में रकाबगंज गुरुद्वारा से संसद भवन तक रोष यात्रा निकाली जानी है। पार्टी ने इस दिन को काला दिवस के रूप में मनाने का एलान किया है। इसी प्रदर्शन में भाग लेने के लिए कार्यकर्ता जा रहे थे। अकाली दल के बुढलाडा हलका प्रधान निशान सिंह ने बताया कि 300 से ज्यादा कार्यकर्ता छह बसों व आठ कारों में सवार होकर आए थे। 

दिल्ली पुलिस ने भी ट्रैफिक अलर्ट जारी किया है। झाड़ोदा कलां बॉर्डर पर दोनों रास्ते किसान आंदोलन की वजह से  बैरिकेटिंग लगा कर बंद कर दिए गए हैं। पुलिस ने इस मार्ग के प्रयोग से बचने की सलाह दी है।

 

गौरतलब है कि शिरोमणि अकाली दल ने तीन कृषि कानूनों के अधिनियमन के एक वर्ष पूरा होने पर 17 सितंबर को काला दिवस के रूप में मनाने का निर्णय लिया है। दिल्ली में पार्टी कार्यकर्ता किसानों के साथ तीनों कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग को लेकर संसद तक विरोध मार्च निकालेंगे।

 



[ad_2]

Supply hyperlink

Share on:

नमस्कार दोस्तों, मैं Pinku, HindiMeJabab(हिन्दी में जवाब) का Technical Author & Co-Founder हूँ. Education की बात करूँ तो मैं 10th Pass हूँ. मुझे नयी नयी चीजों को सीखना और दूसरों को सिखाने में बड़ा मज़ा आता है. मेरी आपसे विनती है की आप लोग इसी तरह हमारा सहयोग देते रहिये और हम आपके लिए नईं-नईं जानकारी उपलब्ध करवाते रहेंगे.

Leave a Comment