Quad And Aukus Are Groupings Of Completely different Nature And Aukus Will Have No Influence On Quad Says International Secy Hv Shringla – विदेश सचिव श्रृंगला बोले: ‘ऑकस’ से ‘क्वाड’ पर नहीं पड़ेगा कोई असर, दोनों के उद्देश्य अलग

[ad_1]

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
Revealed by: गौरव पाण्डेय
Up to date Tue, 21 Sep 2021 04:10 PM IST

सार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार को पांच दिवसीय अमेरिकी दौरे पर रवाना होंगे। इस दौरान वह अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन के साथ बैठक करने के साथ कई अन्य अहम कार्यक्रमों में भी हिस्सा लेंगे। विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला ने मंगलवार को एक प्रेसवार्ता में प्रधानमंत्री की इस यात्रा के बारे में जानकारी साझा की। इस दौरान श्रृंगला ने ‘क्वाड’ और ‘ऑकस’ के बीच अंतर भी साफ किया और कहा कि दोनों संगठनों के उद्देश्य अलग-अलग हैं और एक दूसरे को प्रभावित करने वाले नहीं हैं।

विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला
– फोटो : एएनआई

ख़बर सुनें

विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला ने मंगलवार को बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार की सुबह अमेरिका के लिए रवाना होंगे और 26 सितंबर को देश वापसी करेंगे। इस दौरान प्रधानमंत्री के साथ विदेश मंत्रालय और राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी (एनएसए) का उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल भी मौजूद रहेगा। इसके अलावा वह क्वाड नेताओं और यूएनजीए (संयुक्त राष्ट्र महासभा) की बैठक में भी शामिल होंगे। मोदी, उप राष्ट्रपति कमला हैरिस के साथ भी बैठक करेंगे। हैरिस के साथ पीएम मोदी की यह पहली औपचारिक वार्ता होगी।

श्रृंगला ने बताया कि इस दौरान पीएम मोदी कोविड-19 महामारी पर वैश्विक शिखर सम्मेलन में भी शिरकत करेंगे। बुधवार को आयोजित होने वाले इस कार्यक्रम की अध्यक्षता बाइडन करने वाले हैं। 24 सितंबर को मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडन के बीच द्विपक्षीय बैठक होगी। इस दौरान भारत और अमेरिका के संबंधों की समीक्षा की जाएगी। दोनों नेताओं के बीच व्यापार और निवेश संबंधों को मजबूत करने, रक्षा और सुरक्षा सहयोग को ताकत देने और स्वच्छ ऊर्जा साझेदारी को बढ़ावा देने को लेकर चर्चा होने की उम्मीद है।

ऑस्ट्रेलिया, यूनाइटेड किंगडम और अमेरिका ने बीते दिनों एक त्रिपक्षीय सुरक्षा समझौते का एलान किया था। इसे ‘ऑकस’ नाम दिया गया है। इसे लेकर विदेश सचिव ने कहा कि ‘क्वाड’ व ‘ऑकस’ समान प्रवृत्ति के संगठन नहीं हैं। ‘क्वाड’ का गठन हिंद-प्रशांत क्षेत्र की जरूरतें पूरी करने के लिए किया गया है। जबकि ‘ऑकस’, तीन देशों के बीच सुरक्षा गठबंधन है। ‘ऑकस’ का ‘क्वाड’ से कोई संबंध नहीं है और इसका ‘क्वाड’ की गतिविधियों पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा। बता दें कि क्वाड देशों में भारत, अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और जापान हैं।

विस्तार

विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला ने मंगलवार को बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार की सुबह अमेरिका के लिए रवाना होंगे और 26 सितंबर को देश वापसी करेंगे। इस दौरान प्रधानमंत्री के साथ विदेश मंत्रालय और राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी (एनएसए) का उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल भी मौजूद रहेगा। इसके अलावा वह क्वाड नेताओं और यूएनजीए (संयुक्त राष्ट्र महासभा) की बैठक में भी शामिल होंगे। मोदी, उप राष्ट्रपति कमला हैरिस के साथ भी बैठक करेंगे। हैरिस के साथ पीएम मोदी की यह पहली औपचारिक वार्ता होगी।

श्रृंगला ने बताया कि इस दौरान पीएम मोदी कोविड-19 महामारी पर वैश्विक शिखर सम्मेलन में भी शिरकत करेंगे। बुधवार को आयोजित होने वाले इस कार्यक्रम की अध्यक्षता बाइडन करने वाले हैं। 24 सितंबर को मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडन के बीच द्विपक्षीय बैठक होगी। इस दौरान भारत और अमेरिका के संबंधों की समीक्षा की जाएगी। दोनों नेताओं के बीच व्यापार और निवेश संबंधों को मजबूत करने, रक्षा और सुरक्षा सहयोग को ताकत देने और स्वच्छ ऊर्जा साझेदारी को बढ़ावा देने को लेकर चर्चा होने की उम्मीद है।

ऑस्ट्रेलिया, यूनाइटेड किंगडम और अमेरिका ने बीते दिनों एक त्रिपक्षीय सुरक्षा समझौते का एलान किया था। इसे ‘ऑकस’ नाम दिया गया है। इसे लेकर विदेश सचिव ने कहा कि ‘क्वाड’ व ‘ऑकस’ समान प्रवृत्ति के संगठन नहीं हैं। ‘क्वाड’ का गठन हिंद-प्रशांत क्षेत्र की जरूरतें पूरी करने के लिए किया गया है। जबकि ‘ऑकस’, तीन देशों के बीच सुरक्षा गठबंधन है। ‘ऑकस’ का ‘क्वाड’ से कोई संबंध नहीं है और इसका ‘क्वाड’ की गतिविधियों पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा। बता दें कि क्वाड देशों में भारत, अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और जापान हैं।

[ad_2]

Supply hyperlink

Share on:

नमस्कार दोस्तों, मैं Pinku, HindiMeJabab(हिन्दी में जवाब) का Technical Author & Co-Founder हूँ. Education की बात करूँ तो मैं 10th Pass हूँ. मुझे नयी नयी चीजों को सीखना और दूसरों को सिखाने में बड़ा मज़ा आता है. मेरी आपसे विनती है की आप लोग इसी तरह हमारा सहयोग देते रहिये और हम आपके लिए नईं-नईं जानकारी उपलब्ध करवाते रहेंगे.

Leave a Comment