Punjab Authorities Issued Order To Workers To Attain Workplace By 9 Am – पंजाब की नई सरकार का फरमान: अब सुबह नौ बजे कर्मचारियों को पहुंचना होगा ऑफिस, हाजिरी की औचक होगी जांच

[ad_1]

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, चंडीगढ़
Revealed by: ajay kumar
Up to date Tue, 21 Sep 2021 12:47 AM IST

सार

पंजाब में नई सरकार के साथ ही नए फरमान भी आने लगे हैं। अब सरकारी दफ्तरों पर काम करने वाले कर्मचारियों को सुबह नौ बजे तक ऑफिस पहुंचना होगा। खास बात यह है कि कर्मचारियों की हाजिरी का औचक निरीक्षण भी किया जाएगा। 

पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी।
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

पंजाब की नई सरकार ने अपने कामकाज में तेजी लाने के लिए सभी अधिकारियों और कर्मचारियों को सुबह 9 बजे दफ्तरों में अपनी हाजिरी दर्ज कराने का आदेश जारी किया है और यह साफ कर दिया है कि विभागों में किसी भी समय जांच हो सकती है।

कार्मिक विभाग की ओर से राज्य से कभी विभाग प्रमुखों, डिविजन कमिश्नरों, डिप्टी कमिश्नरों और एसडीएम को जारी पत्र में कहा गया है कि राज्य के सभी अधिकारी व कर्मचारी सुबह नौ बजे अपने दफ्तरों में हाजिरी लगाएं और शाम को दफ्तर के समय तक हाजिर रहें। इसके साथ ही सभी प्रबंध सचिवों और विभाग प्रमुखों को भी निर्देश दिया गया है कि सप्ताह में कम से कम दो बार अपने अधीन कार्यरत कर्मचारियों व अधिकारियों की हाजिरी की औचक जांच करें। साथ ही, अपने अधीन संस्थानों में जारी कामकाज व रिकॉर्ड का भी निरीक्षण करें। 

सरकार ने प्रबंध सचिवों को उनके अधीन निदेशालयों, बोर्डों और निगमों के प्रमुखों से हिदायतों का पालन कराने के लिए भी जिम्मेदार करार दिया है। इसी तरह, फील्ड में डिविजनों के कमिश्नर, डिप्टी कमिश्नर और विभिन्न विभागों के प्रमुख अपने अधिकार क्षेत्र में आने वाले दफ्तरों के प्रमुखों के स्टाफ को चेक करने के लिए उत्तरदायी होंगे। सरकार की तरफ से यह आदेश भी दिया गया है कि दफ्तरी कामकाज में पारदर्शिता लाई जाए और लोगों की शिकायतों को प्राथमिकता के आधार पर पारदर्शी तरीके से निपटाने की कार्रवाई करें।

विस्तार

पंजाब की नई सरकार ने अपने कामकाज में तेजी लाने के लिए सभी अधिकारियों और कर्मचारियों को सुबह 9 बजे दफ्तरों में अपनी हाजिरी दर्ज कराने का आदेश जारी किया है और यह साफ कर दिया है कि विभागों में किसी भी समय जांच हो सकती है।

कार्मिक विभाग की ओर से राज्य से कभी विभाग प्रमुखों, डिविजन कमिश्नरों, डिप्टी कमिश्नरों और एसडीएम को जारी पत्र में कहा गया है कि राज्य के सभी अधिकारी व कर्मचारी सुबह नौ बजे अपने दफ्तरों में हाजिरी लगाएं और शाम को दफ्तर के समय तक हाजिर रहें। इसके साथ ही सभी प्रबंध सचिवों और विभाग प्रमुखों को भी निर्देश दिया गया है कि सप्ताह में कम से कम दो बार अपने अधीन कार्यरत कर्मचारियों व अधिकारियों की हाजिरी की औचक जांच करें। साथ ही, अपने अधीन संस्थानों में जारी कामकाज व रिकॉर्ड का भी निरीक्षण करें। 

सरकार ने प्रबंध सचिवों को उनके अधीन निदेशालयों, बोर्डों और निगमों के प्रमुखों से हिदायतों का पालन कराने के लिए भी जिम्मेदार करार दिया है। इसी तरह, फील्ड में डिविजनों के कमिश्नर, डिप्टी कमिश्नर और विभिन्न विभागों के प्रमुख अपने अधिकार क्षेत्र में आने वाले दफ्तरों के प्रमुखों के स्टाफ को चेक करने के लिए उत्तरदायी होंगे। सरकार की तरफ से यह आदेश भी दिया गया है कि दफ्तरी कामकाज में पारदर्शिता लाई जाए और लोगों की शिकायतों को प्राथमिकता के आधार पर पारदर्शी तरीके से निपटाने की कार्रवाई करें।

[ad_2]

Supply hyperlink

Share on:

नमस्कार दोस्तों, मैं Pinku, HindiMeJabab(हिन्दी में जवाब) का Technical Author & Co-Founder हूँ. Education की बात करूँ तो मैं 10th Pass हूँ. मुझे नयी नयी चीजों को सीखना और दूसरों को सिखाने में बड़ा मज़ा आता है. मेरी आपसे विनती है की आप लोग इसी तरह हमारा सहयोग देते रहिये और हम आपके लिए नईं-नईं जानकारी उपलब्ध करवाते रहेंगे.

Leave a Comment