Lakhimpur Kheri Violence Priyanka Gandhi Is In Custody Congress Supporters Proceed To Protest Exterior Pac Visitor Home In Sitapur – 28 घंटे से हिरासत में: प्रियंका गांधी बोलीं- मोदी जी आपकी सरकार ने मुझे बिना Fir के हिरासत में रखा, कुचलने वालों की गिरफ्तारी कब?

[ad_1]

सार

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी को रविवार को तड़के पुलिस ने हिरासत में लिया था। उसके बाद से अब तक प्रियंका गांधी को पुलिस ने रिहा नहीं किया है। 

प्रदर्शन करते कांग्रेस कार्यकर्ता
– फोटो : एएनआई

ख़बर सुनें

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा को पुलिस हिरासत में 28 घंटे से ज्यादा का समय हो गया है। प्रियंका गांधी की रिहाई के लिए सीतापुर में पीएसी गेस्ट हाउस के बाहर कांग्रेस समर्थकों का विरोध जारी है। वहीं, प्रियंका गांधी ने भी ट्वीट कर सरकार पर निशाना साधा है। 

प्रियंका गांधी ने लिखा कि-नरेंद्र मोदी जी, आपकी सरकार ने बगैर किसी आदेश और एफआईआर के मुझे पिछले 28 घंटे से हिरासत में रखा है। वहीं, प्रियंका गांधी ने सवाल करते हुए पूछा कि अन्नदाता को कुचल देने वाले अब तक गिरफ्तार नहीं हुए क्यों?

आपको बता दें कि रविवार को तड़के प्रियंका गांधी को सीतापुर पुलिस ने हिरासत में लिया था। उसके बाद से अब तक प्रियंका गांधी पुलिस की हिरासत में ही हैं। उन्हें अभी तक रिहा नहीं किया गया है। उनकी रिहाई के लिए कांग्रेस कार्यकर्ता सीतापुर में पीएसी गेस्ट हाउस के गेट पर प्रदर्शन कर रहे हैं। 

कार की सीट के नीचे छिपकर जा रही थीं प्रियंका
गौरतलब है कि लखनऊ से कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी रविवार रात कार से सीतापुर के रास्ते लखीमपुर के लिए निकलीं थीं। पुलिस की घेराबंदी को चकमा देने के लिए वे कार की पीछे वाली सीट के नीचे छिपकर जा रही थीं। इस बात का खुलासा हरगांव में कार की चेकिंग के दौरान हुआ। पुलिस सूत्रों की माने तो सीट के नीचे प्रियंका गांधी बैठी थीं।

लखनऊ से प्रियंका गांधी के निकलने के बाद राजधानी से जिले के डीएम व एसपी को फरमान सुनाया गया कि किसी भी कीमत पर कांग्रेस महासचिव को लखीमपुर नहीं जाने दिया जाए। राजधानी से फरमान आते ही डीएम-एसपी अलर्ट मोड पर आ गए। अटरिया से लेकर लहरपुर तक चप्पे-चप्पे पर पुलिस का पहरा लगा दिया गया।

मामले की नजाकत को देखते हुए प्रियंका गांधी ने रूट ही बदल दिया। इसकी सूचना मिलते ही डीएम-एसपी के होश उड़ गए। इसके बाद पुलिस पूरी ताकत से प्रियंका गांधी को पकड़ने के लिए घेराबंदी करने लगी। आखिर में हरगांव में उन्हें रोक लिया गया था।
वहीं, इससे पहले सीतापुर के गेस्ट हाउस में अरेस्ट कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने पुलिस प्रशासन से दो टूक कहा है कि वह पीड़ित किसान परिवारों से बिना मिले यहां से नहीं जाएंगी। कानून के शासन में इस तरह से नहीं रोका जा सकता। 

प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा कि लखीमपुर में राजनीतिक तनाव के लिए केंद्रीय गृह राज्य मंत्री और उनका बेटा जिम्मेदार है। भाजपा सरकार उन्हें क्यों बचा रही है? सरकार को हमें हिरासत में लेने के बजाय दोषी भाजपा नेताओं पर कार्रवाई करने में फुर्ती दिखानी चाहिए। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार किसानों को कुचलने की राजनीति कर रही है। 

किसानों को खत्म करने की राजनीति कर रही है। लखीमपुर की घटना बताती है कि भाजपा सरकार किसानों पर अत्याचार की किस हद तक जा सकती है। लेकिन, हम किसानों की आवाज को दबने नहीं देंगे। भाजपा सरकार के किसान विरोधी मंसूबे कामयाब नहीं होने देंगे। प्रियंका के साथ ही कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू, सांसद दीपेंद्र हुड्डा, विधान परिषद में कांग्रेस विधायक दल के नेता दीपक सिंह और अमरनाथ अग्रवाल भी गिरफ्तार किए गए हैं। 

कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने देर रात अमर उजाला को बताया कि हमारी पार्टी की नेता प्रियंका गांधी समेत पूरी टीम लखीमपुर खीरी पीड़ित परिवारों से मिलने जाना चाहती हैं। अब यह पुलिस और प्रशासन की जिम्मेदारी है कि वो किस तरह से हमें मिलवाता है। इतना तय है कि बिना मिलें यहां से नहीं हटेंगे।

विस्तार

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा को पुलिस हिरासत में 28 घंटे से ज्यादा का समय हो गया है। प्रियंका गांधी की रिहाई के लिए सीतापुर में पीएसी गेस्ट हाउस के बाहर कांग्रेस समर्थकों का विरोध जारी है। वहीं, प्रियंका गांधी ने भी ट्वीट कर सरकार पर निशाना साधा है। 

प्रियंका गांधी ने लिखा कि-नरेंद्र मोदी जी, आपकी सरकार ने बगैर किसी आदेश और एफआईआर के मुझे पिछले 28 घंटे से हिरासत में रखा है। वहीं, प्रियंका गांधी ने सवाल करते हुए पूछा कि अन्नदाता को कुचल देने वाले अब तक गिरफ्तार नहीं हुए क्यों?

आपको बता दें कि रविवार को तड़के प्रियंका गांधी को सीतापुर पुलिस ने हिरासत में लिया था। उसके बाद से अब तक प्रियंका गांधी पुलिस की हिरासत में ही हैं। उन्हें अभी तक रिहा नहीं किया गया है। उनकी रिहाई के लिए कांग्रेस कार्यकर्ता सीतापुर में पीएसी गेस्ट हाउस के गेट पर प्रदर्शन कर रहे हैं। 

कार की सीट के नीचे छिपकर जा रही थीं प्रियंका

गौरतलब है कि लखनऊ से कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी रविवार रात कार से सीतापुर के रास्ते लखीमपुर के लिए निकलीं थीं। पुलिस की घेराबंदी को चकमा देने के लिए वे कार की पीछे वाली सीट के नीचे छिपकर जा रही थीं। इस बात का खुलासा हरगांव में कार की चेकिंग के दौरान हुआ। पुलिस सूत्रों की माने तो सीट के नीचे प्रियंका गांधी बैठी थीं।

लखनऊ से प्रियंका गांधी के निकलने के बाद राजधानी से जिले के डीएम व एसपी को फरमान सुनाया गया कि किसी भी कीमत पर कांग्रेस महासचिव को लखीमपुर नहीं जाने दिया जाए। राजधानी से फरमान आते ही डीएम-एसपी अलर्ट मोड पर आ गए। अटरिया से लेकर लहरपुर तक चप्पे-चप्पे पर पुलिस का पहरा लगा दिया गया।

मामले की नजाकत को देखते हुए प्रियंका गांधी ने रूट ही बदल दिया। इसकी सूचना मिलते ही डीएम-एसपी के होश उड़ गए। इसके बाद पुलिस पूरी ताकत से प्रियंका गांधी को पकड़ने के लिए घेराबंदी करने लगी। आखिर में हरगांव में उन्हें रोक लिया गया था।


आगे पढ़ें

किसानों से बिना मिले यहां से नहीं जाएंगे: प्रियंका

[ad_2]

Supply hyperlink

Share on:

नमस्कार दोस्तों, मैं Pinku, HindiMeJabab(हिन्दी में जवाब) का Technical Author & Co-Founder हूँ. Education की बात करूँ तो मैं 10th Pass हूँ. मुझे नयी नयी चीजों को सीखना और दूसरों को सिखाने में बड़ा मज़ा आता है. मेरी आपसे विनती है की आप लोग इसी तरह हमारा सहयोग देते रहिये और हम आपके लिए नईं-नईं जानकारी उपलब्ध करवाते रहेंगे.

Leave a Comment