Kkk 11 Winner: ‘खतरों के खिलाड़ी 11’ के विजेता बने अर्जुन बिजलानी, दिव्यांका त्रिपाठी रहीं पहली रनर अप

[ad_1]

खतरों के खिलाड़ी 11, जिसका प्रीमियर 17 जुलाई को हुआ था, रविवार रात (26 सितंबर) समाप्त हो गया। कलर्स टीवी के एडवेंचर्स रियलिटी शो खतरों के खिलाड़ी सीजन 11 को अपना विनर मिल चुका है। अपने प्रतिस्पर्धी दिव्यांका त्रिपाठी और विशाल आदित्य सिंह को हराते हुए अर्जुन बिजलानी ने खतरों के खिलाड़ी 11की ट्रॉफी अपने नाम कर ली। दिव्यांका त्रिपाठी पहली रनर अप रहीं।

अर्जुन बिजलानी बने विनर

स्टंट बेस्ड रियलिटी शो ‘खतरों के खिलाड़ी’ के सीजन 11 का नतीजा आने के बाद फैंस थोडे अचंभित भी हैं क्योंकि उन्होंने जो उम्मीद लगा रखी थी नतीजा उससे बिल्कुल उलट आया है। अर्जुन बिजलानी ने खतरों के खिलाड़ी 11 की ट्रॉफी अपने नाम कर ली है और दिव्यांका त्रिपाठी जीत से महज एक कदम पीछे रह गईं। 

रोहित शेट्टी ने की थी अर्जुन की तारीफ

अर्जुन बिजलानी की तारीफ खुद शो के होस्ट रोहित शेट्टी ने भी की थी। उन्होंने कहा था कि अर्जुन हमेशा अपना टास्क शांति से कम्प्लीट करते हैं वो ना हड़बड़ी मचाते हैं ना ही जीतने के बाद दिखावा करते हैं। जाते हैं टास्क खत्म करते हैं और वापस अपनी जगह पर आ जाते हैं. हर बार उन्होंने बेहतरीन प्रदर्शन किया है।

अर्जुन बिजलानी ‘मिले हम तुम’ और ‘नागिन’ जैसी टीवी सीरियल्स के लिए जाने जाते हैं। अर्जुन बिजलानी ने ‘खतरों के खिलाड़ी 11’ के पूरे सीजन में असाधारण प्रदर्शन किया था। फिनाले के दिन अर्जुन बिलजलानी का मुकाबला दिव्यांका त्रिपाठी और विशाल आदित्य सिंह से था। अर्जुन बिजलानी को विनर बनने पर ट्रॉफी के साथ 20 लाख रुपये और एक कार मिली है।

 

दिव्यांका को माना जा रहा था विनर

हालांकि नतीजा कुछ भी रहा हो लेकिन फैंस को पूरी उम्मीद थी कि इस बार दिव्यांका त्रिपाठी बाजी जीतेंगी और वो ही बनेंगी खतरों के खिलाड़ी 11 की विनर। पहले टास्क से ही दिव्यांका ने यह बात साबित कर दी थी कि वो सबसे दमदार हैं, सबको टक्कर देने वाली हैं और जीतने के लिए आई हैं। इसके बाद हुए सभी टास्क में दिव्यांका का जज्बा देख हर किसी ने दांतो तले ऊंगलियां चबा ली थी। यहां तक कि दिव्यांका को ‘मगर रानी’ का दर्जा भी दिया गया था, लेकिन किस्मत अर्जुन की तेज निकली और वो बाजी मार ले गए। फिनाले टास्क में अर्जुन बिजलानी ने शानदार परफॉर्मेंस दी और वो विनर चुन लिए गए।

बता दें कि ट्रॉफी के लिए फिनाले में टॉप-5 कंटेस्टेंट्स पहुंचे थे। जिनमें अर्जुन बिजलानी, दिव्यांका त्रिपाठी, राहुल वैद्य, विशाल आदित्य सिंह और श्वेता तिवारी का नाम शामिल है। अर्जुन बिजलानी की पत्नी नेहा स्वामी ने पहले ही अपने पति को विनर कंर्फम कर दिया था। नेहा स्वामी ने ‘खतरों के खिलाड़ी 11’ की ट्रॉफी की तस्वीर सोशल मीडिया पर शेयर की है, जिस पर अर्जुन बिजलानी का नाम लिखा हुआ है। 

फिल्म की क्लाइमैक्स की तरह था फाइनल स्टंट

आखरी टास्क में इन तीनो कंटेस्टेंट्स को एक रेस्क्यू मिशन दिया गया। रोहित शेट्टी ने तीनों से कहा कि यह स्टंट एक फिल्म के क्लाइमैक्स की तरह होगा। इस टास्क में उन्हें बोट में बैठकर पानी के बीचो बीच दिए गए मार्क पर जाना था। जब कंटेस्टेंट मार्क पर पहुंचेगा तब चॉपर आएगा। चॉपर के आने के बाद कंटेस्टेंट्स को खुद उनकी बोट को चॉपर से हुक करना था। इस दौरान कंटेस्टेंट को बोट में ही रहना है और चॉपर उनकी बोट को लेकर ऊपर उड़ेगा।

रोहित शेट्टी ने स्टंट को समझाते हुए आगे कहा कि बोट और कंटेस्टेंट को लेकर चॉपर आगे के मार्क की तरफ चला जाएगा। दूसरे मार्क पर कंटेस्टेंट्स को एक जलता हुआ घर दिखेगा। जब चॉपर घर के पास आएगा तब कंटेस्टेंट को बोट की चारों तरफ लगे हुए नेट से उसके नीचे लगी हुई चाबी निकालनी होगी। वो चाबी लेकर आपको हुक करना हैं और पानी में डाइव मारनी है। पानी में डाइव लेकर कंटेस्टेंट्स को स्विमिंग करते हुए जल रहे घर के पास जाना है।

जब कंटेस्टेंट जलते हुए घर के पास पहुंचेंगे तब एक फायर को बुझाने वाला सिलेंडर, जो लॉक्ड है, उसकी चाबी कंटेस्टेंट के पास होगी, जो उन्होंने बोट के नीचे से निकाली थी। कंटेस्टेंट को उस सिलेंडर से आग बुझाते हुए दरवाजा तोड़कर अंदर जाना है और फिर उन्हें अंदर रखे हुए पुतले को लेकर छत के ऊपर तक जाना है। कंटेस्टेंट्स के ऊपर आने के बाद चॉपर उनके पास आएगा, तब खिलाड़ी को पुतले को अंदर डालकर खुद चॉपर में आना हैं और तीसरे मार्क पर आकर जंप करना है।



[ad_2]

Supply hyperlink

Share on:

नमस्कार दोस्तों, मैं Pinku, HindiMeJabab(हिन्दी में जवाब) का Technical Author & Co-Founder हूँ. Education की बात करूँ तो मैं 10th Pass हूँ. मुझे नयी नयी चीजों को सीखना और दूसरों को सिखाने में बड़ा मज़ा आता है. मेरी आपसे विनती है की आप लोग इसी तरह हमारा सहयोग देते रहिये और हम आपके लिए नईं-नईं जानकारी उपलब्ध करवाते रहेंगे.

Leave a Comment