Is Crushing Farmers, Stifling Oppn Voices New Technique Of Bjp? Sanjay Raut – संजय राउत का हमला: क्या किसानों को कुचलना और विपक्ष को दबाना भाजपा की नई रणनीति है? 

[ad_1]

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, मुंबई
Printed by: Amit Mandal
Up to date Mon, 04 Oct 2021 05:29 PM IST

सार

लखीमपुर-खीरी की घटना को लेकर भाजपा सरकार पर सियासी हमले का सिलसिला जारी है। उन्होंने सवाल उठाया, क्या किसानों को कुचलना और उनके समर्थन में खड़े विपक्षी नेताओं की आवाज दबाना भाजपा की नई रणनीति है? 
 

ख़बर सुनें

लखीमपुर खीरी हिंसा को लेकर शिवसेना ने भाजपा पर हमला बोला है। लखीमपुर खीरी में किसानों के विरोध प्रदर्शन के दौरान भड़की हिंसा में आठ लोगों के मारे जाने के एक दिन बाद शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा कि क्या किसानों को कुचलना और उनके समर्थन में खड़े विपक्षी नेताओं की आवाज दबाना भाजपा की नई रणनीति है? 

राउत ने पूछा- ऐसी क्रूरता कहां से आई 
राउत ने मुंबई में संवाददाताओं से बात करते हुए कहा कि जब मुंबई में साकी नाका में दुष्कर्म की घटना हुई, तो भाजपा ने हंगामा किया और हमने (राज्य सरकार) किसी को भी अपराध स्थल पर जाने से नहीं रोका। राउत ने सवाल उठाया कि किसानों को एक मंत्री के बेटे की कार से कथित तौर पर कुचल दिया गया। ऐसी क्रूरता कहां से आती है? 

उन्होंने कहा कि कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा और अन्य नेताओं को लखीमपुर खीरी जाने से रोक दिया गया था, ताकि केंद्र के तीन कृषि कानूनों को निरस्त करने की मांग के विरोध में किसानों के साथ एकजुटता दिखाई जा सके।

कहा- भाजपा सरकारें किसानों को मारती हैं
राउत ने पूछा, क्या भाजपा के पास किसानों को कुचलने और उनके साथ एकजुटता दिखाने वाले विपक्षी नेताओं की आवाज दबाने की नई रणनीति है? शिवसेना के मुख्य प्रवक्ता ने दावा किया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी किसानों के हितों की बात करते हैं, जबकि भाजपा के नेतृत्व वाली राज्य सरकारें किसानों को मारती हैं।

राउत ने लखीमपुर खीरी की घटना की तुलना क्रांतिकारी बाबू जेनु के मामले से की, जिन्हें स्वतंत्रता संग्राम के दौरान मुंबई में विरोध प्रदर्शन करते हुए एक ब्रिटिश ट्रक ने कुचल दिया था।

विस्तार

लखीमपुर खीरी हिंसा को लेकर शिवसेना ने भाजपा पर हमला बोला है। लखीमपुर खीरी में किसानों के विरोध प्रदर्शन के दौरान भड़की हिंसा में आठ लोगों के मारे जाने के एक दिन बाद शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा कि क्या किसानों को कुचलना और उनके समर्थन में खड़े विपक्षी नेताओं की आवाज दबाना भाजपा की नई रणनीति है? 

राउत ने पूछा- ऐसी क्रूरता कहां से आई 

राउत ने मुंबई में संवाददाताओं से बात करते हुए कहा कि जब मुंबई में साकी नाका में दुष्कर्म की घटना हुई, तो भाजपा ने हंगामा किया और हमने (राज्य सरकार) किसी को भी अपराध स्थल पर जाने से नहीं रोका। राउत ने सवाल उठाया कि किसानों को एक मंत्री के बेटे की कार से कथित तौर पर कुचल दिया गया। ऐसी क्रूरता कहां से आती है? 

उन्होंने कहा कि कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा और अन्य नेताओं को लखीमपुर खीरी जाने से रोक दिया गया था, ताकि केंद्र के तीन कृषि कानूनों को निरस्त करने की मांग के विरोध में किसानों के साथ एकजुटता दिखाई जा सके।

कहा- भाजपा सरकारें किसानों को मारती हैं

राउत ने पूछा, क्या भाजपा के पास किसानों को कुचलने और उनके साथ एकजुटता दिखाने वाले विपक्षी नेताओं की आवाज दबाने की नई रणनीति है? शिवसेना के मुख्य प्रवक्ता ने दावा किया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी किसानों के हितों की बात करते हैं, जबकि भाजपा के नेतृत्व वाली राज्य सरकारें किसानों को मारती हैं।

राउत ने लखीमपुर खीरी की घटना की तुलना क्रांतिकारी बाबू जेनु के मामले से की, जिन्हें स्वतंत्रता संग्राम के दौरान मुंबई में विरोध प्रदर्शन करते हुए एक ब्रिटिश ट्रक ने कुचल दिया था।

[ad_2]

Supply hyperlink

Share on:

नमस्कार दोस्तों, मैं Pinku, HindiMeJabab(हिन्दी में जवाब) का Technical Author & Co-Founder हूँ. Education की बात करूँ तो मैं 10th Pass हूँ. मुझे नयी नयी चीजों को सीखना और दूसरों को सिखाने में बड़ा मज़ा आता है. मेरी आपसे विनती है की आप लोग इसी तरह हमारा सहयोग देते रहिये और हम आपके लिए नईं-नईं जानकारी उपलब्ध करवाते रहेंगे.

Leave a Comment