Good Information: Huge Aid To Airways, Will Be In a position To Repair The Fare For 15 Days In A Month – खुशखबर: एयरलाइंस कंपनियों को बड़ी राहत, महीने में 15 दिनों का तय कर सकेंगी किराया

[ad_1]

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
Revealed by: Amit Mandal
Up to date Sat, 18 Sep 2021 09:31 PM IST

सार

किराए बैंड के तहत सरकार अब तक सबसे कम और सबसे ज्यादा किराए की लिमिट तय कर रही थी, लेकिन अब इसमें छूट दी गई है।

ख़बर सुनें

केंद्र सरकार की ओर से शनिवार को एयरलाइंस कंपनियों को बड़ी राहत मिली। अब कंपनियां महीने में 15 दिनों तक किराया तय कर सकती हैं। इसके अलावा बाकी 15 दिनों तक उन्हें सरकार द्वारा तय किए गए किराए बैंड के अनुसार ही चलना होगा। 

किराए बैंड के तहत सरकार अब तक सबसे कम और सबसे ज्यादा किराए की लिमिट तय कर रही थी, लेकिन अब इसमें छूट दी गई है। अब सरकार महीने में 15 दिन ही यह लिमिट तय करेगी, जबकि बाकी 15 दिनों तक एयरलाइंस कंपनियां इसे अपने हिसाब से तय कर सकेंगी। 

इसके अलावा नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने यात्री क्षमता को 72.5 फीसदी से बढ़ाकर 85 फीसदी कर दिया है। यानी अब घरेलू उड़ानों में पहले की तुलना में अधिक यात्री सफर कर सकेंगे। बता दें कि कोरोना वायरस की वजह से एयरलाइंस कंपनियां काफी ज्यादा प्रभावित हुई हैं। लॉकडाउन के चलते कंपनियों को भारी नुकसान उठाना पड़ा है। 

पिछले साल कोरोना महामारी के दस्तक देने पर विमान सेवाओं को रोक दिया गया था। कई महीने तक सेवा बंद रहने के बाद घरेलू उड़ान सेवाएं शुरू तो हुईं, लेकिन यात्री संख्या को 50 फीसदी कर दिया गया। बाद में इसे 72.5 फीसदी कर दिया गया। अब मंत्रालय ने इसे बढ़ाकर 85 फीसदी कर दिया है। इससे कंपनियों को कुछ राहत जरूर मिलेगी। 

विस्तार

केंद्र सरकार की ओर से शनिवार को एयरलाइंस कंपनियों को बड़ी राहत मिली। अब कंपनियां महीने में 15 दिनों तक किराया तय कर सकती हैं। इसके अलावा बाकी 15 दिनों तक उन्हें सरकार द्वारा तय किए गए किराए बैंड के अनुसार ही चलना होगा। 

किराए बैंड के तहत सरकार अब तक सबसे कम और सबसे ज्यादा किराए की लिमिट तय कर रही थी, लेकिन अब इसमें छूट दी गई है। अब सरकार महीने में 15 दिन ही यह लिमिट तय करेगी, जबकि बाकी 15 दिनों तक एयरलाइंस कंपनियां इसे अपने हिसाब से तय कर सकेंगी। 

इसके अलावा नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने यात्री क्षमता को 72.5 फीसदी से बढ़ाकर 85 फीसदी कर दिया है। यानी अब घरेलू उड़ानों में पहले की तुलना में अधिक यात्री सफर कर सकेंगे। बता दें कि कोरोना वायरस की वजह से एयरलाइंस कंपनियां काफी ज्यादा प्रभावित हुई हैं। लॉकडाउन के चलते कंपनियों को भारी नुकसान उठाना पड़ा है। 

पिछले साल कोरोना महामारी के दस्तक देने पर विमान सेवाओं को रोक दिया गया था। कई महीने तक सेवा बंद रहने के बाद घरेलू उड़ान सेवाएं शुरू तो हुईं, लेकिन यात्री संख्या को 50 फीसदी कर दिया गया। बाद में इसे 72.5 फीसदी कर दिया गया। अब मंत्रालय ने इसे बढ़ाकर 85 फीसदी कर दिया है। इससे कंपनियों को कुछ राहत जरूर मिलेगी। 



[ad_2]

Supply hyperlink

Share on:

नमस्कार दोस्तों, मैं Pinku, HindiMeJabab(हिन्दी में जवाब) का Technical Author & Co-Founder हूँ. Education की बात करूँ तो मैं 10th Pass हूँ. मुझे नयी नयी चीजों को सीखना और दूसरों को सिखाने में बड़ा मज़ा आता है. मेरी आपसे विनती है की आप लोग इसी तरह हमारा सहयोग देते रहिये और हम आपके लिए नईं-नईं जानकारी उपलब्ध करवाते रहेंगे.

Leave a Comment