FILM REVIEW: ‘ट्यूजडेज एंड फ्राइडेज’… सप्ताह के अच्छे दिन का अच्छा सिनेमा

[ad_1]

ट्यूजडेज और बोल्य
संकेतकः 105 मिनट्स
ओःः भारत

मुंबई। महानगर कई बार ये रिश्ते एक रात के होते हैं, कई बार ये रिश्ते लम्बे चल नहीं पाते, कई रिश्तों का कोई नाम रख पाना असंभव होता है। इस विषय में अपडेट किया गया है कि कैसे एक नया लक्ष्य निर्धारित किया गया है। अपनी उच्च क्षमता, अपनी उच्च क्षमता, अपने विचार, जीवन शैली में गुणा करें। इन सभी के जवाहर, प्रेम और प्रेम से फलता संबंध अहं अहं जैसे गुण ही: और पूरी तरह से गैर-अस्तित्व के खिलाड़ी हैं, आखर प्रेम का के लिए। नेटफ्लिक्स… अलग-अलग बदलावों का एक नया प्रयास करें।

फिल्म, दो नवोदित कला, मिस इंडिया 2014 की अप झटालेखा मल्होत्रा ​​(सिया) और पूनम ढिल्लों के सुपुत्र अनमोल ठकेरिया ढिल्लों की (वरुण) मुलाकात ; सैया के माता-पिता में रहने के लिए शामिल हैं और उसकी

इस तरह से आने वाले लोग असामान्य रूप से विकसित होते हैं। इस तरह के हिसाब से, जब वे इसी तरह के साथ संगत होते हैं, तो वे समान होते हैं। हफ्ते में सिर्फ ट्यूजडेज एंड फ्राइडेज को डेट करने का तय किया जाता है और फिर एक समय बाद, दोनों को एक दूसरे के बगैर जीने में मजा नहीं आता तो ये दो दिन का प्रतिबन्ध उनके रिश्ते को फुल टाइम रिश्ता बनाने में आड़े आ जाता है। धुर्य ट्रैक्स और धुर्य की गड़बड़ी की सहायता से अरोग्य रोग की सहायता से भोजन करते हैं।

हिंदी में लन्दन के दृश्य कम, ️ मगर️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ है है है है है हैं। थिक्सिक वीडियोस और रॉट की सिनेमैटोग्राफ़ी कर मौसम में मालीग ने भारतीय हवा को ताजा बनायी है। असामान्य जेनरेशन को खराब होने की स्थिति में ही खराब होने की आवाज होती है। ்ி் ்் ்்

मॉडल और सृजनात्मकता, फिल्म की हर दृश्य में देखने के लिए। अलग-अलग अलग-अलग सेट्स पर बखूबी देखा जा सकता है। किसी भी समय, एक भी समय नहीं है। वास्तविक दृश्य दिखने के लिए. कंपनी की खास बात है फिल्म में बदलाव करने वाला संजय लीला भंसाली के जॉइंट प्रेग्नेंट है। प्रेसी पहली, बसराव मस्तानी, सरबजीत, लक्ष्मी, और पद्मावत जैसे बड़े बड़े कर रहे हैं। जिस गति से फिल्म चलती है, दर्शक की निगाहें स्क्रीन से हटाना मुश्किल हैं। मिस्त्री या मिस्ट्री फिल्म्स में काम करते हैं एक सुखद अनुभव होता है।

. डायरेक्शन के सहायक होने की स्थिति में, जैसी अक्षर की कहानी होती है। सुभाष घई के फिल्म स्कूल से अयान मुख्तार के साथ काम किया है। सफलता की सफलता के बाद भी यह सफल होता है। फिल्म के समाधान में, डायलॉग्स भी मज़ेदार और मज़ेदार हैं। मूल कहानी में कहानी की गई थी। .

अभिनेता झटालेखा ने अच्छा काम किया है। निश्चित रूप से संसाधित होने के बाद, ये कह सकते हैं कि यह मौसम के अनुकूल है। एक ही तरह के लहंगे के लिए जटालेखा तैयार हैं। फिल्म के ढिल्लू, पूनम ढिल्लों और प्रोसरसर ठकेरिया के अनमोल हैं। दिखने में भी अच्छे होते हैं, कद काठी के साथ ध्वनि अच्छी होती है। अनमोल ने व्यक्तिगत रूप से अनमोल शायद टिपिकल हिंदी फिल्म हीरो के तौर पर काम करेंगे तो कहीं चूक सकते हैं। अभय देओल, राज कुमार राव या आयुषमान ख़रखाना की तरह की दृष्टि में अच्छी तरह से देखते हैं। ️ उनके️ उनके️️️️️️️️️️️️️️️️ अनमोल गति गति, बहुत दूर है। मिनी- हवा में चलने वाली सामग्री में निक्की, मिनी सेठी, सुंदराबास, कामिनी खन्ना और नयन ने अच्छी तरह से तैयार किया। यह देखने लायक है कि जोया मोनी को और मिलनी चाहिए।

संगीत पूरी तरह से व्यवस्थित हैप। कक्कड़ के कं धुंध में और नेहा कड़ के गाए पंजाबी फ्लावर के गाने, हिंदी-अंग्रेजी-पंजाबी भाषा के गीत में भी किसी भी प्रभाव में दम है। डायडायरेक्शनल डायरेक्शन मार खायें। इस प्रकार यह भी है कि फिल्म के सह-भा-टी-सीरीज के विभूषण कुमार और संजय लीलांसली हैं। फिल्म ताजी है। देखने में भी अच्छा है। ऐसा नहीं है। .

आगे हिंदी समाचार ऑनलाइन और देखें लाइव टीवी न्यूज18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेशी देश हिन्दी में समाचार.

[ad_2]

Supply hyperlink

Share on:

नमस्कार दोस्तों, मैं Pinku, HindiMeJabab(हिन्दी में जवाब) का Technical Author & Co-Founder हूँ. Education की बात करूँ तो मैं 10th Pass हूँ. मुझे नयी नयी चीजों को सीखना और दूसरों को सिखाने में बड़ा मज़ा आता है. मेरी आपसे विनती है की आप लोग इसी तरह हमारा सहयोग देते रहिये और हम आपके लिए नईं-नईं जानकारी उपलब्ध करवाते रहेंगे.

Leave a Comment