Dawood Aide Parveen Arrested In Extortion Case Involving Param Bir Singh – शिकंजा: दाऊद का करीबी तारिक परवीन गिरफ्तार, परमबीर सिंह भी मुश्किल में

[ad_1]

सार

एक अन्य वसूली केस में तारिक परवीन पहले से ही तलोजा जेल में बंद था। शुक्रवार को मुंबई की अदालत ने उसे ठाणे पुलिस के हवाले करने का आदेश सुनाया। अब परमबीर सिंह भी मुश्किल में दिख रहे हैं। 

ख़बर सुनें

ठाणे पुलिस ने भगोड़े डॉन दाऊद इब्राहिम के करीबी तारिक परवीन को गिरफ्तार किया है। तारिक को वसूली के एक मामले में गिरफ्तार किया गया है जिसमें आईपीएस अफसर मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह भी एक आरोपी हैं।  

55 साल का तारिक अब्दुल करीम मर्चेंटा उर्फ तारिक परवीन पहले ही एक मामले में जेल में बंद था। अधिकारियों ने बताया कि तारिक पर ठाणे नगर पुलिस स्टेशन में भी एक केस दर्ज था। 
 
इस मामले में कुल 20 लोग नामजद थे जिसमें मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह का नाम भी शामिल है। कुछ और पुलिस अधिकारी भी इस केस में नामजद हैं। 

ये केस बिल्डर केतन तन्ना ने दर्ज कराया था जिन्होंने आरोप लगाया है कि परमबीर सिंह के ठाणे का पुलिस कमिश्नर रहने के दौरान सिंह और अन्य पुलिस अधिकारियों ने उन्हें झूठे केस में फंसाने की  धमकी देकर वसूली की थी। 

वहीं, एक अन्य वसूली केस में तारिक परवीन पहले से ही तलोजा जेल में बंद था। शुक्रवार को मुंबई की अदालत ने उसे ठाणे पुलिस के हवाले करने का आदेश सुनाया। इसके बाद ठाणे पुलिस ने उसे अदालत में पेश किया जहां से उसे 22 सितंबर तक पुलिस हिरासत में भेज दिया गया। 

हालांकि, परमबीर सिंह को अभी तक इस केस में गिरफ्तार नहीं किया गया है। एंटीलिया केस के बाद सिंह का तबादला कर दिया गया था। इसके बाद उन्होंने पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख पर भ्रष्ट होने का आरोप लगाया था जिसके बाद देशमुख को इस्तीफा देना पड़ा था।  
 

विस्तार

ठाणे पुलिस ने भगोड़े डॉन दाऊद इब्राहिम के करीबी तारिक परवीन को गिरफ्तार किया है। तारिक को वसूली के एक मामले में गिरफ्तार किया गया है जिसमें आईपीएस अफसर मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह भी एक आरोपी हैं।  

55 साल का तारिक अब्दुल करीम मर्चेंटा उर्फ तारिक परवीन पहले ही एक मामले में जेल में बंद था। अधिकारियों ने बताया कि तारिक पर ठाणे नगर पुलिस स्टेशन में भी एक केस दर्ज था। 

 

इस मामले में कुल 20 लोग नामजद थे जिसमें मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह का नाम भी शामिल है। कुछ और पुलिस अधिकारी भी इस केस में नामजद हैं। 

ये केस बिल्डर केतन तन्ना ने दर्ज कराया था जिन्होंने आरोप लगाया है कि परमबीर सिंह के ठाणे का पुलिस कमिश्नर रहने के दौरान सिंह और अन्य पुलिस अधिकारियों ने उन्हें झूठे केस में फंसाने की  धमकी देकर वसूली की थी। 

वहीं, एक अन्य वसूली केस में तारिक परवीन पहले से ही तलोजा जेल में बंद था। शुक्रवार को मुंबई की अदालत ने उसे ठाणे पुलिस के हवाले करने का आदेश सुनाया। इसके बाद ठाणे पुलिस ने उसे अदालत में पेश किया जहां से उसे 22 सितंबर तक पुलिस हिरासत में भेज दिया गया। 

हालांकि, परमबीर सिंह को अभी तक इस केस में गिरफ्तार नहीं किया गया है। एंटीलिया केस के बाद सिंह का तबादला कर दिया गया था। इसके बाद उन्होंने पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख पर भ्रष्ट होने का आरोप लगाया था जिसके बाद देशमुख को इस्तीफा देना पड़ा था।  

 

[ad_2]

Supply hyperlink

Share on:

नमस्कार दोस्तों, मैं Pinku, HindiMeJabab(हिन्दी में जवाब) का Technical Author & Co-Founder हूँ. Education की बात करूँ तो मैं 10th Pass हूँ. मुझे नयी नयी चीजों को सीखना और दूसरों को सिखाने में बड़ा मज़ा आता है. मेरी आपसे विनती है की आप लोग इसी तरह हमारा सहयोग देते रहिये और हम आपके लिए नईं-नईं जानकारी उपलब्ध करवाते रहेंगे.

Leave a Comment