Bug In Replace Of Defi Platform Compound Despatched Customers Almost 9 Crore Greenback Of Cryptocurrency In Error – बड़ी गड़बड़ी: गलती से यूजर्स के पास आई नौ करोड़ डॉलर की क्रिप्टोकरेंसी, Ceo ने की वापस करने की विनती

[ad_1]

बिजनेस डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
Revealed by: ‌डिंपल अलावाधी
Up to date Tue, 05 Oct 2021 12:15 PM IST

सार

क्रिप्टोकरेंसी एक ऐसी करेंसी है जिसे आप देख नहीं सकते। आसान शब्दों में आप इसे डिजिटल रुपया कह सकते हैं। क्रिप्टोकरेंसी को कोई बैंक जारी नहीं करती है। इसे जारी करने वाले ही इसे कंट्रोल करते हैं। 
 

ख़बर सुनें

पूरी दुनिया में क्रिप्टोकरेंसी का क्रेज बढ़ता जा रहा है। ज्यादा से ज्यादा लोग डिजिटल मुद्रा से प्रभावित हो रहे हैं। लेकिन इसकी सुरक्षा पर भी सवाल खड़ा होता है। डिसेंट्रलाइज्ड वित्तीय (Defi) प्लेटफॉर्म कंपाउंड के हालिया अपडेट में एक बग ने उपयोगकर्ताओं को गलती से लगभग 90 मिलियन डॉलर यानी नौ करोड़ डॉलर की क्रिप्टोकरेंसी भेज दी। इसे वापस लेने के लिए कंपनी के सीईओ उपयोगकर्ताओं से विनती कर रहे हैं।

यह गड़बड़ी क्रिप्टोकरेंसी प्लेटफॉर्म के लिए एक बुरे सपने की तरह है। मालूम हो कि डिसेंट्रलाइज्ड फाइनेंस (Defi) प्लेटफॉर्म में बैंक या अन्य बिचौलिए नहीं होते हैं। यह पूरी तरह से कंप्यूटर कोड द्वारा नियंत्रित यूजर्स के बीच स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट्स पर निर्भर होने के बजाय फंड का प्रबंधन करते हैं।

अमेरिकन फॉर फाइनेंशियल रिफॉर्म के एक वरिष्ठ नीति विश्लेषक एंड्रयू पार्क ने कहा कि, ‘मौजूदा बैंकिंग प्रणाली की आलोचना करने के कारण हैं, लेकिन इस तरह की चीजों को होने से रोकने के लिए बहुत सारे सुरक्षित उपाय हैं।’ कंपाउंड गलती सबसे नवीनतम हाइ प्रोफाइल एरर है। यह अक्सर ‘कोड इज लॉ’ मंत्र का उपयोग करके इस बात पर जोर देता है कि कंप्यूटर कोड सिस्टम को नियंत्रित करता है. लेकिन आलोचकों का कहना है कि जब कोड में गलतियां होती हैं, तो यह उपयोगकर्ताओं के लिए परेशानी का सबब बन जाता है।

हाल ही में हुई थी क्रिप्टोकरेंसी के इतिहास की सबसे बड़ी चोरी
हाल ही में क्रिप्टोकरेंसी के इतिहास के सबसे बड़ी चोरी हुई थी जिसमें हैकर्स ने 4,500 करोड़ से अधिक की क्रिप्टोकरेंसी चुरा ली थी। यह चोरी क्रिप्टोकरेंसी ट्रांसफरिंग के लिए जानी जाने वाली एक कंपनी पॉली नेटवर्क (Poly Community) में हुई थी। बाद में पॉली नेटवर्क ने उसी हैकर को अपने यहां नौकरी पर रख लिया है। PolyNetwork ने कहा था कि वह हैकर्स की काबिलित से खुश है और इसी खुशी में उसे नौकरी दी जा रही है। हैकिंग के एक दिन बाद ही पॉली नेटवर्क ने दावा किया था कि चुराई गई 4,500 करोड़ से अधिक की क्रिप्टोकरेंसी में से हैकर ने करीब 1,930 करोड़ की क्रिप्टोकरेंसी लौटा दी है। पॉली नेटवर्क के मुताबिक 26.9 करोड़ डॉलर की इथेरियम और 8.4 करोड़ डॉलर की पॉलीगॉन नहीं लौटाई गई थी। कंपनी ने इसकी जानकारी एक के बाद एक कई ट्वीट करके दी।

विस्तार

पूरी दुनिया में क्रिप्टोकरेंसी का क्रेज बढ़ता जा रहा है। ज्यादा से ज्यादा लोग डिजिटल मुद्रा से प्रभावित हो रहे हैं। लेकिन इसकी सुरक्षा पर भी सवाल खड़ा होता है। डिसेंट्रलाइज्ड वित्तीय (Defi) प्लेटफॉर्म कंपाउंड के हालिया अपडेट में एक बग ने उपयोगकर्ताओं को गलती से लगभग 90 मिलियन डॉलर यानी नौ करोड़ डॉलर की क्रिप्टोकरेंसी भेज दी। इसे वापस लेने के लिए कंपनी के सीईओ उपयोगकर्ताओं से विनती कर रहे हैं।

यह गड़बड़ी क्रिप्टोकरेंसी प्लेटफॉर्म के लिए एक बुरे सपने की तरह है। मालूम हो कि डिसेंट्रलाइज्ड फाइनेंस (Defi) प्लेटफॉर्म में बैंक या अन्य बिचौलिए नहीं होते हैं। यह पूरी तरह से कंप्यूटर कोड द्वारा नियंत्रित यूजर्स के बीच स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट्स पर निर्भर होने के बजाय फंड का प्रबंधन करते हैं।

अमेरिकन फॉर फाइनेंशियल रिफॉर्म के एक वरिष्ठ नीति विश्लेषक एंड्रयू पार्क ने कहा कि, ‘मौजूदा बैंकिंग प्रणाली की आलोचना करने के कारण हैं, लेकिन इस तरह की चीजों को होने से रोकने के लिए बहुत सारे सुरक्षित उपाय हैं।’ कंपाउंड गलती सबसे नवीनतम हाइ प्रोफाइल एरर है। यह अक्सर ‘कोड इज लॉ’ मंत्र का उपयोग करके इस बात पर जोर देता है कि कंप्यूटर कोड सिस्टम को नियंत्रित करता है. लेकिन आलोचकों का कहना है कि जब कोड में गलतियां होती हैं, तो यह उपयोगकर्ताओं के लिए परेशानी का सबब बन जाता है।

हाल ही में हुई थी क्रिप्टोकरेंसी के इतिहास की सबसे बड़ी चोरी

हाल ही में क्रिप्टोकरेंसी के इतिहास के सबसे बड़ी चोरी हुई थी जिसमें हैकर्स ने 4,500 करोड़ से अधिक की क्रिप्टोकरेंसी चुरा ली थी। यह चोरी क्रिप्टोकरेंसी ट्रांसफरिंग के लिए जानी जाने वाली एक कंपनी पॉली नेटवर्क (Poly Community) में हुई थी। बाद में पॉली नेटवर्क ने उसी हैकर को अपने यहां नौकरी पर रख लिया है। PolyNetwork ने कहा था कि वह हैकर्स की काबिलित से खुश है और इसी खुशी में उसे नौकरी दी जा रही है। हैकिंग के एक दिन बाद ही पॉली नेटवर्क ने दावा किया था कि चुराई गई 4,500 करोड़ से अधिक की क्रिप्टोकरेंसी में से हैकर ने करीब 1,930 करोड़ की क्रिप्टोकरेंसी लौटा दी है। पॉली नेटवर्क के मुताबिक 26.9 करोड़ डॉलर की इथेरियम और 8.4 करोड़ डॉलर की पॉलीगॉन नहीं लौटाई गई थी। कंपनी ने इसकी जानकारी एक के बाद एक कई ट्वीट करके दी।

[ad_2]

Supply hyperlink

Share on:

नमस्कार दोस्तों, मैं Pinku, HindiMeJabab(हिन्दी में जवाब) का Technical Author & Co-Founder हूँ. Education की बात करूँ तो मैं 10th Pass हूँ. मुझे नयी नयी चीजों को सीखना और दूसरों को सिखाने में बड़ा मज़ा आता है. मेरी आपसे विनती है की आप लोग इसी तरह हमारा सहयोग देते रहिये और हम आपके लिए नईं-नईं जानकारी उपलब्ध करवाते रहेंगे.

Leave a Comment