Bihar Man In Jail For Refusing To Return Rs 5l Erroneously Credited By Financial institution,  Claims Reward From Modi – बिहार: गलती से बैंक में गए पांच लाख रुपये, वापस करने से किया इनकार तो हुआ गिरफ्तार

0
3


पीटीआई, खगड़िया
Revealed by: Amit Mandal
Up to date Wed, 15 Sep 2021 09:28 PM IST

सार

दरअसल, ये मामला है खगड़िया जिले में बख्तियारपुर गांव का। यहां रंजीत दास नाम के शख्स के खाते में अचानक साढ़े पांच लाख रुपये आ गए। गलती से आए रुपये वापस नहीं करने पर वो जेल पहुंच गया। 

ख़बर सुनें

बिहार में एक शख्स के खाते में बैंक की गलती से साढ़े पांच लाख रुपये आ गए। लेकिन वह इन पैसों को वापस करने पर राजी नहीं हुआ जिसके बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया और अब वह जेल में है। इस शख्स का कहना है कि ये रुपये उसके खाते में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भेजे हैं। 

दरअसल, ये मामला है खगड़िया जिले में बख्तियारपुर गांव का। यहां रंजीत दास नाम के शख्स के खाते में अचानक साढ़े पांच लाख रुपये आ गए। उसने ये पैसे बैंक से निकाल लिए। जब बैंक को अपनी गलती का अहसास हुआ तो पैसे वापस मांगे गए, लेकिन उसने इनकार कर दिया। बैंक के बार-बार नोटिस भेजने के बावजूद रंजीत ने पैसे वापस नहीं किए जिसके बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया।  

रंजीत दास ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उसके खाते में साढ़े पांच लाख रुपये भेजे हैं इसलिए वह वापस नहीं करेगा।  

रंजीत के इनकार करने पर मानसी पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया गया। वह समीप के बख्तियारपुर गांव का रहने वाला है। मानसी थानाध्यक्ष दीपक कुमार ने बताया कि ग्रामीण बैंक द्वारा केस दर्ज कराया गया था। रंजीत को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है। 

इस मामले में आरोपी के गांव वालों ने बताया कि जब रंजीत दास के खाते में पैसे आए तब लोगों ने उन्हें इसकी सूचना बैंक को देने के लिए कहा था। लेकिन उसने बात नहीं मानी और सलाखों के पीछे पहुंच गया। 

विस्तार

बिहार में एक शख्स के खाते में बैंक की गलती से साढ़े पांच लाख रुपये आ गए। लेकिन वह इन पैसों को वापस करने पर राजी नहीं हुआ जिसके बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया और अब वह जेल में है। इस शख्स का कहना है कि ये रुपये उसके खाते में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भेजे हैं। 

दरअसल, ये मामला है खगड़िया जिले में बख्तियारपुर गांव का। यहां रंजीत दास नाम के शख्स के खाते में अचानक साढ़े पांच लाख रुपये आ गए। उसने ये पैसे बैंक से निकाल लिए। जब बैंक को अपनी गलती का अहसास हुआ तो पैसे वापस मांगे गए, लेकिन उसने इनकार कर दिया। बैंक के बार-बार नोटिस भेजने के बावजूद रंजीत ने पैसे वापस नहीं किए जिसके बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया।  

रंजीत दास ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उसके खाते में साढ़े पांच लाख रुपये भेजे हैं इसलिए वह वापस नहीं करेगा।  

रंजीत के इनकार करने पर मानसी पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया गया। वह समीप के बख्तियारपुर गांव का रहने वाला है। मानसी थानाध्यक्ष दीपक कुमार ने बताया कि ग्रामीण बैंक द्वारा केस दर्ज कराया गया था। रंजीत को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है। 

इस मामले में आरोपी के गांव वालों ने बताया कि जब रंजीत दास के खाते में पैसे आए तब लोगों ने उन्हें इसकी सूचना बैंक को देने के लिए कहा था। लेकिन उसने बात नहीं मानी और सलाखों के पीछे पहुंच गया। 



Supply hyperlink

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here