Assam Police Arrests Photographer Seen Thrashing Injured Man In Viral Video Throughout Clashes – असम हिंसा मामला: अधमरे शख्स के ऊपर कूद रहा फोटोग्राफर गिरफ्तार, दिल दहलाने वाला वीडियो वायरल

[ad_1]

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, गुवाहाटी
Revealed by: प्रशांत कुमार झा
Up to date Fri, 24 Sep 2021 10:12 AM IST

सार

असम हिंसा को लेकर कुछ सामाजिक संगठनों ने आज 12 घंटे बंद का आह्वान किया है। वहीं, मामले की उच्चस्तरीय जांच की मांग की गई है। राजनैतिक दलों ने हाईकोर्ट के रियाटर्ड जज की निगरानी में जांच की मांग की है। 

घायल शख्स को मारता कैमरामैन
– फोटो : सोशल मीडिया

ख़बर सुनें

असम के दरांग इलाकों में पुलिस-ग्रामीणों के बीच हिंसक झड़प के बाद खौफनाक वीडियो सामने आया है। अधमरा व्यक्ति के साथ पुलिस और कैमरामैन की बर्बरता और क्रूरता भी दिख रहा है। पुलिस फायरिंग में मारे गए शख्स पर कैमरामैन कूद रहा है और पत्थर से मार रहा है। वहीं, पुलिस के जवान भी उसपर लाठी बरसा रहे हैं। ग्रामीणों पर अवैध कब्जा करने और पुलिस पर पत्थरबाजी करने का आरोप है। सोशल मीडिया पर पुलिस और कैमरामैन की बेरहमी वाला वीडियो सामने आ रहा है। हालांकि, वीडियो वायरल होने के बाद कैमरामैन को गिरफ्तार कर लिया गया है। वहीं, असम सरकार ने इस मामले में न्यायिक जांच के आदेश दे दिए हैं। 

दरअसल, पिछले दिनों पुलिस और ग्रामीणों के बीच हुई झड़प में दो प्रदर्शनकारियों की मौत हो गई। वहीं, नौ पुलिसकर्मी घायल हो गए हैं। वीडियो में दिख रहा है कि एक शख्स अधमरी हालत में जमीन पर पड़ा हुआ है। उस पर एक फोटोग्राफर बेरहमी से कूद रहा है और उसे मार रहा है।

पुलिस पर घायल जवान पर जुल्म ढाहने और फायरिंग करने का आरोप
बताया जा रहा है कि शख्स पुलिस फायरिंग में घायल हो गया उसके बाद भी फोटोग्राफर उसके ऊपर कूद रहा है और ईंट से उसपर हमला कर रहा है। इतना ही नहीं, पुलिस के कुछ जवान भी उसपर लाठियां बरसा रहे हैं और हवाई फायर कर लोगों में दहशत फैला रहे हैं। सोशल मीडिया पर वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है।

ग्रामीणों पर अवैध कब्जे का आरोप
दरअसल, असम पुलिस द्वारा दरांग के एक इलाके में अतिक्रमण हटाने के लिए एक अभियान चलाया गया है। पिछले चार दिनों से चल रहे अभियान में  अब तक 800 परिवारों को यहां से हटाया जा चुका है। गुरुवार को हुई झड़प में 2 नागरिक की मौत हो गई जबकि पुलिस के 9 जवान घायल हुए। पुलिस ने ग्रामीणों को तितर-बितर करने के लिए लाठीचार्ज और फायरिंग का सहारा लिया। सरकार की ओर से दावा किया गया कि यहां लोग अवैध अतिक्रमण करके रह रहे थे। इनमें से ज्यादातर पूर्वी बंगाल मूल के मुसलमान थे।

12 घंटे तक बंद रखने का एलान
घटना के बाद लोगों में पुलिस के खिलाफ आक्रोश बढ़ा है। घटना को देखते हुए आज कुछ सामाजिक और राजनैतिक संगठनों ने बंद का आह्वान किया है। संगठनों ने 12 घंटे तक दरांग को बंद करने का एलान किया है। 

विस्तार

असम के दरांग इलाकों में पुलिस-ग्रामीणों के बीच हिंसक झड़प के बाद खौफनाक वीडियो सामने आया है। अधमरा व्यक्ति के साथ पुलिस और कैमरामैन की बर्बरता और क्रूरता भी दिख रहा है। पुलिस फायरिंग में मारे गए शख्स पर कैमरामैन कूद रहा है और पत्थर से मार रहा है। वहीं, पुलिस के जवान भी उसपर लाठी बरसा रहे हैं। ग्रामीणों पर अवैध कब्जा करने और पुलिस पर पत्थरबाजी करने का आरोप है। सोशल मीडिया पर पुलिस और कैमरामैन की बेरहमी वाला वीडियो सामने आ रहा है। हालांकि, वीडियो वायरल होने के बाद कैमरामैन को गिरफ्तार कर लिया गया है। वहीं, असम सरकार ने इस मामले में न्यायिक जांच के आदेश दे दिए हैं। 

दरअसल, पिछले दिनों पुलिस और ग्रामीणों के बीच हुई झड़प में दो प्रदर्शनकारियों की मौत हो गई। वहीं, नौ पुलिसकर्मी घायल हो गए हैं। वीडियो में दिख रहा है कि एक शख्स अधमरी हालत में जमीन पर पड़ा हुआ है। उस पर एक फोटोग्राफर बेरहमी से कूद रहा है और उसे मार रहा है।

पुलिस पर घायल जवान पर जुल्म ढाहने और फायरिंग करने का आरोप

बताया जा रहा है कि शख्स पुलिस फायरिंग में घायल हो गया उसके बाद भी फोटोग्राफर उसके ऊपर कूद रहा है और ईंट से उसपर हमला कर रहा है। इतना ही नहीं, पुलिस के कुछ जवान भी उसपर लाठियां बरसा रहे हैं और हवाई फायर कर लोगों में दहशत फैला रहे हैं। सोशल मीडिया पर वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है।

ग्रामीणों पर अवैध कब्जे का आरोप

दरअसल, असम पुलिस द्वारा दरांग के एक इलाके में अतिक्रमण हटाने के लिए एक अभियान चलाया गया है। पिछले चार दिनों से चल रहे अभियान में  अब तक 800 परिवारों को यहां से हटाया जा चुका है। गुरुवार को हुई झड़प में 2 नागरिक की मौत हो गई जबकि पुलिस के 9 जवान घायल हुए। पुलिस ने ग्रामीणों को तितर-बितर करने के लिए लाठीचार्ज और फायरिंग का सहारा लिया। सरकार की ओर से दावा किया गया कि यहां लोग अवैध अतिक्रमण करके रह रहे थे। इनमें से ज्यादातर पूर्वी बंगाल मूल के मुसलमान थे।

12 घंटे तक बंद रखने का एलान

घटना के बाद लोगों में पुलिस के खिलाफ आक्रोश बढ़ा है। घटना को देखते हुए आज कुछ सामाजिक और राजनैतिक संगठनों ने बंद का आह्वान किया है। संगठनों ने 12 घंटे तक दरांग को बंद करने का एलान किया है। 

[ad_2]

Supply hyperlink

Share on:

नमस्कार दोस्तों, मैं Pinku, HindiMeJabab(हिन्दी में जवाब) का Technical Author & Co-Founder हूँ. Education की बात करूँ तो मैं 10th Pass हूँ. मुझे नयी नयी चीजों को सीखना और दूसरों को सिखाने में बड़ा मज़ा आता है. मेरी आपसे विनती है की आप लोग इसी तरह हमारा सहयोग देते रहिये और हम आपके लिए नईं-नईं जानकारी उपलब्ध करवाते रहेंगे.

Leave a Comment