जानिए कैसी है फिल्म सुई धागा

[ad_1]

समीक्षक -विविवक्ता शाह

शरत कणिका अपनी फिल्म ‘दमद के हईशा’ का एक बार फिर दोबारा शुरू होती है ‘सुई’ और इस बार के है है है है । भारत के ‘स्वच्छ भारत’ में भी शामिल हैं। ‘मेक इन इंडिया’ को थीम वाली थीम ‘सुई’ हमारे बीच आई है।

खराब खराब होने की स्थिति में जो भी खराब होने की स्थिति में होती है वह खराब होती है। एंब्रिकेशन के चंदेरी की एसिड की मारक क्षमता खराब होने के कारण खराब हो जाती है। अंत में।

एक बार खराब होने पर भी हम आपके शरीर की जांच करते हैं। . इस शादी में, शादी, प्यार, परिवार इस तरह से।

इस तरह कनेक्ट होने के साथ ही कनेक्ट करें। जो आपके दिल को छू रहा है, वह भाग भाग है। जांच के बारे में देखें तो हवा में परखने की स्थिति में यह सही है।

फिल्म में रघुबीर यादव, वरुण धवन के पिता के रोल में नज़र आते हैं और नमित दास और गोविंद पांडेय का अभिनय भी फिल्म में जमता है। फिल्म का संगीत इस फिल्म की फिल्म की तरह फिट बैठता है। छोटी छोटी छोटी छोटी छोटी छोटी छोटी बातों में, शहर की छोटी छोटी छोटी छोटी बातों पर लेगी।

आगे हिंदी समाचार ऑनलाइन और देखें लाइव टीवी न्यूज़18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेशी देश हिन्दी में समाचार.

[ad_2]

Supply hyperlink

Share on:

नमस्कार दोस्तों, मैं Pinku, HindiMeJabab(हिन्दी में जवाब) का Technical Author & Co-Founder हूँ. Education की बात करूँ तो मैं 10th Pass हूँ. मुझे नयी नयी चीजों को सीखना और दूसरों को सिखाने में बड़ा मज़ा आता है. मेरी आपसे विनती है की आप लोग इसी तरह हमारा सहयोग देते रहिये और हम आपके लिए नईं-नईं जानकारी उपलब्ध करवाते रहेंगे.

Leave a Comment